Hanuman Chalisa

Hanuman Chalisa – English, Hindi, Lyrics, Mp3, Video

दुर्गम काज जगत के जेते ।
सुगम अनुग्रह तुम्हरे तेते ॥

अर्थात: संसार में जितने भी कठिन से कठिन काम हो, वो आपकी कृपा से सहज हो जाते है।


राम दुआरे तुम रखवारे ।
होत न आज्ञा बिन पैसारे ॥

अर्थात: श्री रामचन्द्र जी के द्वार के आप रखवाले है, जिसमें आपकी आज्ञा बिना किसी को प्रवेश नहीं मिलता अर्थात् आपकी प्रसन्नता के बिना राम कृपा दुर्लभ है।


सब सुख लहै तुम्हारी सरना ।
तुम रक्षक काहू को डरना ॥

अर्थात: जो भी आपकी शरण में आते है, उस सभी को आनन्द प्राप्त होता है, और जब आप रक्षक है, तो फिर किसी का डर नहीं रहता।


आपन तेज सम्हारो आपै ।
तीनों लोक हाँकते काँपै ॥

अर्थात: आपके सिवाय आपके वेग को कोई नहीं रोक सकता, आपकी गर्जना से तीनों लोक कांप जाते है।


भूत पिशाच निकट नहिं आवै ।
महाबीर जब नाम सुनावै ॥

अर्थात: जहां महावीर हनुमान जी का नाम सुनाया जाता है, वहां भूत, पिशाच पास भी नहीं फटक सकते।


नाशौ रोग हरै सब पीरा ।
जपत निरन्तर हनुमत बीरा ॥

अर्थात: वीर हनुमान जी! आपका निरंतर जप करने से सब रोग चले जाते है और सब पीड़ा मिट जाती है।


संकट से हनुमान छुडावै ।
मन क्रम बचन ध्यान जो लावै ॥

अर्थात: हे हनुमान जी! विचार करने में, कर्म करने में और बोलने में, जिनका ध्यान आपमें रहता है, उनको सब संकटों से आप छुड़ाते है।


सब पर राम तपस्वी राजा ।
तिनके काज सकल तुम साजा ॥

अर्थात: तपस्वी राजा श्री रामचन्द्र जी सबसे श्रेष्ठ है, उनके सब कार्यों को आपने सहज में कर दिया।


  •  
    288
    Shares
  • 288
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply