Loading...

  • श्री कृष्णा भगवान ने अर्जुन से कहा

    तस्मात्सर्वेषु कालेषु मामनुस्मर युध्य च ।
    मय्यर्पितमनोबुद्धि-
    र्मामेवैष्यस्यसंशयम् ॥८- ७॥

    इसलिए हे अर्जुन! तू सब समय में निरंतर मेरा स्मरण कर और युद्ध भी कर। इस प्रकार मुझमें अर्पण किए हुए मन-बुद्धि से युक्त होकर तू निःसंदेह मुझको ही प्राप्त होगा॥7॥

    |0|0
Krishna Kutumb
ब्लॉग सूची 0 0 प्रवेश