Loading...

  • श्री कृष्णा भगवान ने अर्जुन से कहा

    अव्यक्ताद्व्यक्तयः सर्वाः प्रभवन्त्यहरागमे ।
    रात्र्यागमे प्रलीयन्ते तत्रैवाव्यक्तसंज्ञके ॥८- १८॥

    संपूर्ण चराचर भूतगण ब्रह्मा के दिन के प्रवेश काल में अव्यक्त से अर्थात ब्रह्मा के सूक्ष्म शरीर से उत्पन्न होते हैं और ब्रह्मा की रात्रि के प्रवेशकाल में उस अव्यक्त नामक ब्रह्मा के सूक्ष्म शरीर में ही लीन हो जाते हैं॥18॥

    |0|0
Krishna Kutumb
ब्लॉग सूची 0 0 प्रवेश