Loading...

  • श्री कृष्णा भगवान ने अर्जुन से कहा

    परस्तस्मात्तु भावोऽन्यो-
    ऽव्यक्तोऽव्यक्तात्सनातनः ।
    यः स सर्वेषु भूतेषु नश्यत्सु न विनश्यति ॥८- २०॥

    उस अव्यक्त से भी अति परे दूसरा अर्थात विलक्षण जो सनातन अव्यक्त भाव है, वह परम दिव्य पुरुष सब भूतों के नष्ट होने पर भी नष्ट नहीं होता॥20॥

    |0|0
Krishna Kutumb
ब्लॉग सूची 0 0 प्रवेश
Open In App