Loading...

  • श्री कृष्णा भगवान ने अर्जुन से कहा

    बुद्धिर्ज्ञानमसंमोहः क्षमा सत्यं दमः शमः ।
    सुखं दुःखं भवोऽभावो भयं चाभयमेव च ॥१०- ४॥

    निश्चय करने की शक्ति, यथार्थ ज्ञान, असम्मूढ़ता, क्षमा, सत्य, इंद्रियों का वश में करना, मन का निग्रह तथा सुख-दुःख, उत्पत्ति-प्रलय और भय-अभय॥4॥

    |0|0
Krishna Kutumb
ब्लॉग सूची 0 0 प्रवेश
Open In App