Loading...

  • श्री कृष्णा भगवान ने अर्जुन से कहा

    दैवी संपद्विमोक्षाय निबन्धायासुरी मता ।
    मा शुचः संपदं दैवीम-
    भिजातोऽसि पाण्डव ॥१६- ५॥

    दैवी सम्पदा मुक्ति के लिए और आसुरी सम्पदा बाँधने के लिए मानी गई है। इसलिए हे अर्जुन! तू शोक मत कर, क्योंकि तू दैवी सम्पदा को लेकर उत्पन्न हुआ है॥5॥

    |0|0
Krishna Kutumb
ब्लॉग सूची 0 0 प्रवेश
Open In App