Loading...

शिव भष्म क्यों धारण करते हैं?

पौराणिक कारण या कथा लिखें

अपना उत्तर यहाँ लिखें
  • Bankimchandra Madhabi

    शिवजी के शरीर पर भस्म रमाने की धार्मिक मान्यता है। कहा जाता कि शिव मृत्यु के स्वामी है और शिवजी शव के जलने के बाद बची भस्म को अपने शरीर पर धारण करते हैं। इस प्रकार शिवजी भस्म लगाकर हमें यह संदेश देते हैं कि यह हमारा यह शरीर नश्वर है और एक दिन इसी भस्म की तरह मिट्टी में विलिन हो जाएगा। अत: हमें इस नश्वर शरीर पर गर्व नहीं करना चाहिए।

    भस्म शिव का प्रमुख वस्त्र है। शिव का पूरा शरीर ही भस्म से ढंका रहता है। वहीं भस्म की एक विशेषता होती है कि यह शरीर के रोम छिद्रों को बंद कर देती है। इसका मुख्य गुण है कि इसको शरीर पर लगाने से गर्मी में गर्मी और सर्दी में सर्दी नहीं लगती। भस्मी त्वचा संबंधी रोगों में भी दवा का काम करती है।

Other Posts

Krishna Kutumb
ब्लॉग सूची 0 0 प्रवेश
Open In App