Loading...

  • क्या आप भी प्रेत साधना करते हैं ? हाँ, तो ये लेख आपके लिए ही है।

    Shiv Das

    Download Image

    यदि आप भूत प्रेत की पूजा (साधना) करते हैं तो सावधान हो जाइए तुच्छ इच्छाओं की पूर्ति हेतु की गई आपकी ये साधना आपको भूत प्रेत योनि दिलायेगी जिनका जन्म इस योनि में होता है उनकी कम से कम आयु 1000 वर्ष होती है ,जो लोग मनुष्य शरीर छोड़ भूत बनते हैं वे अपनी मानव आयु पूर्ण होने पर इस योनि से मुक्त हो जाते हैं किंतु इस योनि में जन्म लेना किसी अभिशाप से कम नहीं।

    यदि आप देवताओं को पूजते हैं तो स्वर्ग इत्यादि ऊँचे लोकों को जाएँगे।

    और यदि आप परमात्मा को पूजते हैं तो परमात्मा को प्राप्त होंगे अर्थात शिव हरि को पूजने वाले इन्हें ही प्राप्त होते हैं इनके भक्तों को किसी भी प्रकार की इच्छा पूर्ति हेतु किसी देव,दानव, यक्ष,भूत, प्रेतों की शरण में जाने की कोई आवश्यकता नहीं इसलिए आप भी सर्वसिद्धिदायक शिव,कृष्ण पूजन में ही मन लगायें व्यर्थ पाप कारक प्रेत साधना न करें।जय श्रीकृष्ण ।शिव शिव शिव...

    यान्ति देवव्रता देवान् पितॄन्यान्ति पितृव्रता:।

    भूतानि यान्ति भूतेज्या यान्ति मद्याजिनोऽपि माम् 25/9

    देवताओंका पूजन करनेवाले (शरीर छोडऩेपर) देवताओंको प्राप्त होते हैं। पितरोंका पूजन करनेवाले पितरोंको प्राप्त होते हैं। भूत-प्रेतोंका पूजन करनेवाले भूत-प्रेतोंको प्राप्त होते हैं। (परन्तु) मेरा पूजन करनेवाले मुझे ही प्राप्त होते हैं। शिव शिव शिव...

    |12|0