Loading...

  • पितृ पक्ष 2017 के दिन और तिथियां - श्राद्ध 2017

    जानें 2017 में पितृ पक्ष, जो कि श्राद्ध के नाम से भी जाना जाता है, किस दिन और किस तिथि पर पड़ रहा है।

    पितृ पक्ष 2017 में 5 सितम्बर से 19 सितम्बर तक चलेगा।
    5 सितम्बर - ये पूर्णिमा श्राद्ध है। जो लोग पूर्णिमा को संसार को छोड़ गए है इस दिन उनके लिए श्राद्ध आयोजित किया जाता है।
    6 सितम्बर - प्रतिपद श्राद्ध। जिनकी मृत्यु प्रतिपद को होती है।
    7 सितम्बर - द्वितीय श्राद्ध। द्वितीय तिथि को मृत्यु पाने वाले मनुष्यों के लिए इस दिन श्राद्ध किया जायेगा।
    8 सितम्बर - तृतीया श्राद्ध। जो तृतीय तिथि को मृत्यु प्राप्त करते हैं।
    9 सितम्बर - चतुर्थी श्राद्ध। चतुर्थी तिथि को मृत्यु पाने वाले लोगों के लिए इस दिन श्राद्ध किया जायेगा।
    10 सितम्बर - पंचमी श्राद्ध। इसे महा भरणी भी बोला जाता है क्योंकि पितृ पक्ष की चतुर्थी या पंचमी को भरणी नक्षत्र शक्तिशाली होता है। ये दिन थोड़ा ज्यादा महत्वपूर्ण है क्योंकि इस दिन उन लोगों के लिए श्राद्ध किया जाता है जो अविवाहित ही मृत्यु को प्राप्त हो गए।
    11 सितम्बर - षष्ठी श्राद्ध। जिनकी मृत्यु षष्ठी के दिन होती है उनके लिए इस दिन श्राद्ध किया जायेगा।
    12 सितम्बर - सप्तमी श्राद्ध।
    13 सितम्बर - अष्टमी श्राद्ध।
    14 सितम्बर - नवमी श्राद्ध। इस दिन पुरुष अपनी पत्नियों के लिए श्राद्ध करते हैं। इसे मातृ नवमी भी कहा जाता है क्योंकि इस दिन पुत्र अपनी माँ के लिए पिंड दान या तर्पण करते हैं।
    15 सितम्बर - दशमी श्राद्ध।
    16 सितम्बर - एकादशी श्राद्ध।
    17 सितम्बर - द्वादशी श्राद्ध, त्रयोदशी श्राद्ध। द्वादशी श्राद्ध उन लोगों के लिए किया जाता है जिन्होंने संन्यास लिया हो। त्रयोदशी श्राद्ध मृत बच्चों की आत्मा की शांति के लिए किया जाता है।
    18 सितम्बर - चतुर्दशी श्राद्ध। इसे माघ श्राद्ध भी कहा जाता है क्योंकि इस दिन माघ नक्षत्र अपराह्न काल में प्रवेश करता है। इस दिन उन लोगों का श्राद्ध किया जाता है जिनकी मृत्यु प्राकृतिक नहीं होती जैसे एक्सीडेंट, खून, आत्महत्या।
    19 सितम्बर - सर्व पितृ अमावस्या। इस दिन सभी का श्राद्ध संभव है। अगर उपयुक्त तिथि पर श्राद्ध नहीं हुआ है तो इस दिन किया जा सकता है। इसे सर्व पितृ मोक्ष अमावस्या बोलते हैं।

    Loading Comments...

Other Posts

Krishna Kutumb
ब्लॉग सूची 0 0 प्रवेश
Open In App