Loading...

  • जानें कैसे पड़ा अंग्रेजी के 12 महीनों का नाम

    शिव दास

    Download Image

    1.जनवरी- जनवरी महीने का नाम दरवाजो के यूनानी देव जेनस  के नाम पर है।

    2. फरवरी - प्राचीनकाल में यूनानी अपने पापों के प्रायश्चित हेतु देवताओं को चढ़ावा चढ़ाते थे वे जिस समय ऐसा करते वह समय फेब्रुआलिया कहलाता था वही बाद में फरवरी हुआ।

    3. मार्च - रोमन देवता मार्श के नाम पर मार्च नाम पड़ा ये युद्ध के देवता कहलाते हैं।

    4. अप्रैल - एसपेरायल शब्द जिसका लेटिन अर्थ कलियों का खिलना होता है उसी से एप्रिलिस नाम पड़ा यह बाद में अप्रैल हो गया। प्राचीन रोम में इस महीने फूल की कलियाँ खिलती थी अर्थात वसंत का आगमन होता था।

    5. मई - पौधों के वर्धन की देवी मायया के नाम से मई हुआ।

    6. जून - रोम के सबसे बड़े देव जियस और उनकी पत्नी जूनो के नाम पर जून रखा गया।

    7. जुलाई - जूलियस सीजर की इस महीने जन्म और मृत्यु होने के कारण रोमन सीनेट द्वारा इस महीने का नाम जुलाई हुआ।

    8. अगस्त - जूलियस सीजर के भतीजे ऑगस्टन सीजर के नाम पर अगस्त रखा गया।

    9. सितम्बर - अंक सात को लेटिन में सेप्टम कहा जाता है जिससे इस महीने का नाम सेप्टेम्बर पड़ा।

    10. अक्टूबर - अंक आठ को लेटिन में आक्ट कहा जाता है जिससे इस महीने का नाम ऑक्टोबर पड़ा।

    11. नवम्बर - अंक नौ को लेटिन में नोवेम्बर कहा जाता है जिससे इस महीने का नाम नवंबर पड़ा।

    12. दिसम्बर - अंक दस को लेटिन में डिसेम कहा जाता है जिससे इस महीने का नाम दिसम्बर पड़ा।

    |6|0