Loading...

  • जीतने वाले कभी हार नहीं मानते और हार मानने वाले कभी जीतते नहीं

    Rajrishi Nayar

    दोस्तों आज में एक ऐसे व्यक्ति की कहानी सुनाने जा रहा हूं जिसे शायद आप सब लोग अच्छे से जानते होंगे - ये कहानी है एल्बर्ट आईंस्टीन की - जब एल्बर्ट आईंस्टीन चार साल के थे वो दिमागी रूप से काफी कमजोर थे। सात साल होते होते वो और कमजोर हो गए। उनके स्कूल के टीचर्स को भी ये लगने लगा था की पढ़ाई उनके बस की बात नहीं है और उन्हें स्कूल से निकाल दिया गया, लेकिन अल्बर्ट आइंस्टीन ने हार नहीं मानी और वो जिंदगी में आगे बढ़ते ही चले गए। इतिहास गवाह की उन्होंने कैसे पूरी दुनिया ही बदल दिया।

    Download Image
    |6|0