Loading...

  • जाकी रही भावना जैसी ..प्रभु मूर्त देखी तिन तैसी !!

    एक महिला रोज मंदिर जाती थी ! एक दिन उस महिला ने पुजारी से कहा अब मैं मंदिर नही आया करूँगी !

    इस पर पुजारी ने पूछा -- क्यों ?

    तब महिला बोली -- मैं देखती हूँ लोग मंदिर परिसर में अपने फोन से अपने व्यापार की बात करते हैं ! कुछ ने तो मंदिर को ही गपशप करने का स्थान चुन रखा है ! कुछ पूजा कम पाखंड,दिखावा ज्यादा करते हैं !

    इस पर पुजारी कुछ देर तक चुप रहे फिर कहा -- सही है ! परंतु अपना अंतिम निर्णय लेने से पहले आप मेरे कहने से कुछ कर सकती हैं !

    महिला बोली -आप बताइए क्या करना है ?

    पुजारी ने कहा -- एक गिलास पानी भर लीजिए और 2 बार मंदिर परिसर के अंदर परिक्रमा लगाइए शर्त ये है कि गिलास का पानी गिरना नही चाहिये !

    महिला बोली -- मैं ऐसा कर सकती हूँ !

    फिर थोड़ी ही देर में उस महिला ने ऐसा कर दिखाया !

    उसके बाद मंदिर के पुजारी ने महिला से 3 सवाल पूछे -
    1.क्या आपने किसी को फोन पर बात करते देखा !
    2.क्या आपने किसी को मंदिर मे गपशप करते देखा !
    3.क्या किसी को पाखंड करते देखा !

    महिला बोली -- नही मैंने कुछ भी नही देखा !

    फिर पुजारी बोले --- जब आप परिक्रमा लगा रही थी तो आपका पूरा ध्यान गिलास पर था कि इसमे से पानी न गिर जाए इसलिए आपको कुछ दिखाई नही दिया अब जब भी आप मंदिर आये तो सिर्फ अपना ध्यान परम पिता परमात्मा में ही लगाना फिर आपको कुछ दिखाई ही नही देगा ! सिर्फ भगवान ही सर्ववृत दिखाई देगें ... !!

    Loading Comments...

Other Posts

Krishna Kutumb
ब्लॉग सूची 0 0 प्रवेश
Open In App